क्या आप बहुत स्वादिष्ट खाना बनाते हैं? और आप टिफ़िन सर्विस का बिजनेस शुरू करना चाहते है।  अगर आपका जवाब है ‘हां’ तो फिर से ज्यादा खुशी की बात कुछ भी नहीं होगी। और जवाब है ‘ना’ तो भी कोई दिक्कत की बात नहीं है। क्योंकि यहां पर पैसा अड्डा ऐसा सुझाव देगा। जिससे यह मुश्किल भी दूर हो जाएगी। बस आप मेहनत, लगन और समय की पाबंदी के साथ टिफ़िन सर्विस का बिजनेस शुरू करें।

जैसा कि हम सभी जानते हैं। टिफ़िन सर्विस का बिजनेस मुख्य रूप से पलायन करने वाले लोगों से जुड़ा होता है। बात की जाए नगर और महानगर की, तो सभी को मिला कर करीब 30 करोड़ लोगों ने पलायन किया। नीचे दी गई सूचना  सीधे  भारत सरकार की 2001 जनगणना के आधार पर है।

इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं की हर साल बहुत सारे लोग पलायन करते हैं। जिसमें ज्यादातर स्टूडेंट, जॉब वाले लोग, इत्यादि आते हैं। इन लोगों को  खाना वक्त पर चाहिए होता है। साथ ही खाने में स्वच्छता एवं स्वाद का बहुत ही ज्यादा ध्यान रखते हैं।  क्योंकि इस व्यापार में आपका  ग्राहक यह नहीं देख सकता की खाना किधर और  कैसे बन रहा है । इस व्यापार में ग्राहक समय पर टिफिन मिलने से मिलने से लेकर खाने की मात्रा तक पूरा ध्यान रखता है। अगर इन बातों पर आप ध्यान रखकर अपना व्यापार चलाते हैं । तो आप मौजूदा प्रतिद्वंदी (competitor) से भी आगे निकल सकते हैं। 

 टिफिन सर्विस कैसे शुरू करें से और उससे 50,000 से ज्यादा, कैसे आमदनी करें यह जानने आप इसे आखरी तक पढ़े।

टिफ़िन सर्विस का बिजनेस कैसे स्टार्ट करे ?

वैसे तो कोरोना के बाद ऑनलाइन पढ़ाई चला रही है, परंतु धीरे-धीरे सभी कुछ सुधर रहा है। अगर आप इस बिज़नेस में नए है। इसलिए Paisa adda सलाह देता है, कि पहले किसी सर्विस सेंटर में जाकर काम करे। वहाँ से सीखे कि वह बिज़नस कैसे चलाते हैं। वहाँ से हर प्रकार की जानकारी इखट्टी करे। जैसे कितनी रोटी/पूड़ी की मात्रा, सब्ज़ी की मात्रा, टिफ़िन का प्रकार, इत्यादि। अगर आप टिफ़िन सर्विस का बिजनेस शुरू करना चाहते है। तो ये कदम बहुत लाभकारी होगा। 

ये करने के बाद, आप उस बिज़नस में अच्छे बदलाव करके, ना केवल उनसे स्वादिष्ट बल्कि ज़्यादा पोषण वाला टिफ़िन बनाकर बेचे। 

 टिफ़िन सर्विस का बिजनेस स्टार्ट करने के लिए सबसे पहले अपने सर्विस का नाम रखें। यह नाम छोटा, आकर्षक और नए जमाने का होना चाहिए। इसके बाद मार्केट रिसर्च करें। जिस पर आपको बहुत बारीकी से काम करना होगा। मार्केट रिसर्च के बाद हमें पता चलेगा, कि हम किस जगह पर अपनी दुकान/सेंटर खोलें। अगर घर से चालू कर सके तो यह बहुत फायदेमंद होगा। जगह पर फैसला लेने के बाद जरूरी सामान खरीदेंगे। उसके बाद सबसे महत्वपूर्ण बात पर आते हैं। जिसमें खाने का स्वाद, मात्रा और गुणवत्ता आती है। सब होने के पश्चात अपने कस्टमर से हर 15 दिन में खाने के बारे में फीडबैक जरूर लें।

टिफ़िन सर्विस के लिए नाम 

  1. सूपर डब्बा 
  2. रोज़ नया टिफ़िन सर्विस
  3. टेस्टी टिफ़िन सर्विस 
  4. अन्नपूर्णा टिफ़िन सेंटर 
  5. देसी चोखा टिफ़िन सर्विस 
  6. ग़ालिब टिफ़िन सेंटर 
  7. होममेड किचन

टिफ़िन सर्विस की मार्केटिंग 

tiffin-service-marketing
Marketing

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले, मार्केट रीसर्च करनी चाहिए। आप तभी बेहतर बिजनेसमेन या बिजनेसवूमन बन सकते है। जब आपको यह पता होगा की ग्राहक कहाँ मिलेगा और उसे क्या चाहिए। 

  1. खाने में क्या रखना होगा यह शहर पर निभर्र करता है । ये सब पहले से एक डायरी में लिख लेवे। जैसे कितनी मात्रा में सब्ज़ी, रोटी, दाल, चावल, आचार पापड़, इत्यादि रखना होगा, खाने का मैन्यू क्या होगा, सब्जी में कौन-सी कंपनी का मसाला डालना होगा।

पैसा अड्डा सुझाव : टिफिन पर अपने सर्विस के नाम का बड़ा स्टीकर फोन नंबर के साथ जरूर लगाएं। इससे टिफिन देखने वाले दूसरे लोग आपकी टिफिन सर्विस के बारे में जान पाएंगे।

  1. शुरुआत में मार्केटिंग करने के लिए स्कूल, कॉलेज, हॉस्टल और ऑफिस के सामने पैम्पलेट (एक छोटे काग़ज़ में ऐड) बांट सकते हैं।

पैसा अड्डा सुझाव : इसके साथ ही आसपास छोटे व्यवसाय करने वालों को कमीशन के तौर पर बात कर लेवे। शुरुआती महीने में, इनका ₹200 कमीशन पर ग्राहक बना सकते हैं।

  1. अपने बिजनेस को बढ़ाने ऑनलाइन गूगल मैप पर लोकेशन जरूर डालें। साथ ही साथ फेसबुक पर अपने बिजनेस का पेज बनाएं। उस पर अपने टिफिन सर्विस के बारे में सारी जानकारियां, फोटो के साथ दें। ऐसा करने से आप के टिफिन सर्विस के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोग जानेंगे। 
  2. जब आपकी कमाई होने लगे तब ऑनलाइन ऐड भी चलवा सकते है। ऑनलाइन ऐड के जरिए आप अपने शहर के ग्राहकों को टारगेट कर पाएंगे।
  3.  चौराहों, रोड और होटलों के बाहर होर्डिंग या एडवरटाइजमेंट लगवा सकते हैं।

टिफ़िन सर्विस के लिए जगह 

शुरुआत में आप अपनी रसोई से ही चालू कर सकते हैं। अगर आपके ग्राहक घर से बहुत दूरी पर हैं । साथ ही पेट्रोल खर्चा और किराया बराबर ही पड़ता है। तो किराए की दुकान ही लेवे। दुकान/रूम के लिए शहर की ऐसी जगह चुने। जहां से ग्राहक का घर पास में पड़े । जिससे आप गरमा-गरम टिफ़िन पहुँचा पाए। 

सामान कहाँ से खरीदें

tiffin-service-centre-items
tiffin service required items

टिफिन सर्विस के लिए खाने का सामान

अनाज के लिए आप शहर के थोक-विक्रेताओं से सम्पर्क करें। ताजी सब्जी के लिए सुबह-सुबह सब्जी मंडी में खरीदने जाएं।

 टिफिन सर्विस शुरू करने के लिए समान की लिस्ट 

 नीचे दी गई लिस्ट में से काफी सामान आपको सेकंड हैंड खरीदना होगा। यह सारा सामान आपको मेन मार्केट में मिल जाएगा।

  • कमर्शल गैस कनेक्शन 
  • सब्जी बनाने के लिए बड़ी कढाई 
  • चार बड़े पतीले जिनमें खाना बनाकर रखा जाय
  • एक बड़ा कुकर
  • चार आइटम वाले 10 टिफ़िन बॉक्स 
  • मसाला और खाने का सामान रखने प्लास्टिक के डिब्बे
  • फ्रिज 
  • भट्टी चूल्हे और किचन स्टोव रोटी सेकने

अन्य समान

  • दो टेबल समान रखने
  • खाना बनाने के समान जैसे- बड़े चम्मच, आटा चलनी, बड़ी थालियाँ, आदि।

होम डिलिव्री के लिए

अगर आपके पास गाड़ी नहीं है। तो सेकंड हैंड गाड़ी ले लेवे।

भोजनालय के लिए

आप लोगों को अपनी जगह पर खाना खिलाना चाहते हैं।  तो ऊपर दिए गए सामान के साथ टेबल कुर्सी और खाना परोसने का भी सामान चाहिए।

 खाना परोसने के लिए
serving-bowl-tiffin-service
Serving bowl

शुरुआत में चार खंड वाले बाउल के 2 सेट और रोटी परोसने ट्रे ले ले। नमक रखने चार डिब्बी।

टिफिन की पैकिंग 

टिफिन की पैकिंग के लिए आप आकर्षक डिजाइन वाले टिफिन खरीद सकते हैं। इसके अलावा उन्हें न्यूज़पेपर और कपड़े के अंदर लपेटकर डिलीवर करवाएं। ग्राहक को टिफिन देते समय उसे हटा ले। ऐसा करने से ग्राहक को हमेशा गरम खाना मिलेगा।

अगर आप साधारण 4 स्तर क्लिप टिफिन लेना चाहते है तो  ₹200 से ₹300 के बीच में एक टिफिन आ जाएगा।

 4 टीर वाले टिफ़िन यहां से खरीदें

टिफिन सर्विस खोलने के लिए लागत

बहुत ही आश्चर्य की बात है, कि यह बिजनेस शुरू करने के लिए मा ₹5000 से ₹10000 के बीच में खुल जाएगा।

अगर आप किराए की दुकान लेते हैं, तो ₹10000 से ₹15000 तक मान ले। इसके अलावा सेकंड हैंड गाड़ी लेने पर ₹20000 से ₹25000 तक बजट बना लेवे।

समान शुरुआती महीने में लागत क़ीमत 
टिफ़िन 10 टिफ़िन 250 x 10 = ₹2500
खाने का समान70 रुपय में 2 वक्त70 x 30 दिन  = ₹2100
खाना बनाने के बर्तनभट्टी, कड़ाई, कुकर, अन्य ₹3000
पेट्रोल खर्चा 6 बार 100 x 6 = ₹600
गैस खर्चा ₹800 में 2 महीने ₹800/2 = ₹400
कुल ₹9600

खाने के व्यवसाय में कमर्शियल गैस सिलेंडर लगाना पड़ता है। छोटे व्यवसाय पर ऐसा करना जरूरी नहीं है। इस बात का ध्यान रखें कि, अगर आप भट्टी लगा रहे हैं तो इसका रेगुलेटर अलग आता है। जिससे ज्यादा गैस निकलती है।

पैसा अड्डा सुझाव : खाता बुक ऐप का इस्तेमाल करें। इस ऐप के जरिए बिक्री और खर्चे के बारे में डिजिटल हिसाब रख सकते हैं। इसके साथ ग्राहकों को फ्री S.M.S. या व्हाट्सएप कर के पेमेंट के बारे में बता सकते हैं।

आपके पास खाना बनाने के बर्तन है तो ₹3000 घटा दें। उस हिसाब से ₹6600 लागत आएगी। इतनी लागत लगाने के बाद अगले महीने से आपको सिर्फ खाने का सामान, गैस और पेट्रोल का खर्चा देना होगा।

पैसा अड्डा सुझाव :  एल्युमिनियम फॉयल का एक छोटा-सा खर्चा टिफिन को आकर्षक बनाएगा। यह आपके ग्राहक पर एक अच्छी छाप छोड़ेगा। इससे आप अपने प्रतिद्वंदी से बेहतर कुछ करेंगे। जिससे ग्राहक को भी अच्छा लगेगा और आपका बिजनेस और बढ़ेगा।

बिजनेस शुरू करने लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

किसी भी बिजनेस को चालू करने के लिए कुछ लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य है। हालांकि इनमें से कुछ लाइसेंस ऐसे हैं  जिन्हें 10 या 20 लाख के ऊपर कमाई होने पर लेना पड़ता है। 

पैसा अड्डा आपको शुभकामनाएं देता है कि, आप करोड़ों तक अपना बिजनेस ले जाए।

अगर आप लाइसेंस लेते हैं तो आपको राज्य या केंद्र सरकार की तरफ से सब्सिडी का फायदा मिल सकता है।

 यह लाइसेंस उन्हें लेना पड़ता है जिनका बिजनेस 12 लाख से ऊपर का है।

एफ एस एस ऐ आइ (FSSAI) 

खाद्य व्यवसाय को शुरू करने के लिए। FSSAI के द्वारा लाइसेन्स लेना अनिवार्य होता है। यह लाइसेंस  आपकी प्रामाणिकता को सुनिश्चित करता है।  इस लाइसेंस को लेने से आपकी व्यवसाय पर ग्राहक को भरोसा ज्यादा होगा ।

हेल्थ एवं सेफ्टी सर्टिफ़िकेट

यह प्रमाण पत्र मूल्य ता खाने की गुणवत्ता और ग्राहक की सुरक्षा के लिए होता है।  यह प्रमाण पत्र  जिला नगर परिषद से मिल जाएगा।

शॉप रेजिस्ट्रेशन सर्टिफ़िकेट 

यह प्रमाण पत्र किसी भी दुकान को खोलने के लिए लिया जाता है। यह प्रमाण पत्र आपको अपने स्थान पर दुकान खोलने का हक़ प्रदान करता है।

 सामान्य प्रमाण पत्र

फायर एनओसी

इस व्यवसाय में आग का उपयोग होगा।  इसलिए आपको फायर स्टेशन से फायर नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेना होगा। 

सोसाइटी एनओसी

अगर आप यह रहवासी एरिया में खोल रहे हैं तो सोसाइटी नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट की आवश्यकता पड़ सकती है।  यह सर्टिफिकेट प्रमाण देगा कि किसी प्रवासी को आपके व्यापार से आपत्ति नहीं है।

ट्रेड लाइसेन्स 

किसी भी प्रकार का व्यापार को मान्यता देने के लिए यह लाइसेंस लेना पड़ता है। ट्रेड लाइसेंस के अंतर्गत आपको फूड एस्टेब्लिशमेंट लाइसेंस बनवाना पड़ेगा बनवाना पड़ेगा।  यह लाइसेंस आपको जिला के नगर पालिका से मिल जाएगा।  

सं लाइसेन्स और रेजिस्ट्रेशन क़ीमत 
1.एफ एस एस ऐ आइ (FSSAI) ₹100
2.फायर एनओसी₹50
3.शॉप रेजिस्ट्रेशन सर्टिफ़िकेट₹150
4.सोसाइटी एनओसी₹50 
5.ट्रेड लाइसेन्स ₹500
License registration

टिफ़िन सर्विस का बिजनेस में कमाई और मुनाफ़ा

टिफ़िन सर्विस का बिजनेस शुरू करने के लिए ₹9600 की लागत लगेगी। इसके बाद हर महीने गैस, सब्जी, खाना बनाने का सामान, पेट्रोल, इत्यादि का खर्चा होगा। अगर अंदाजा लगाएं तो 10 लोगों का खाना यह करीब ₹4000  से  ₹5000 के अंदर हो जाएगा।  बड़े शहरों के अनुसार 1 महीने का टिफिन करीब ₹2500 का होता है। 

10  ग्राहकों का हिसाब लगाया जाए, तो ₹25000 की आमदनी होगी। अब हम इसमें से खर्चा हटा दें। हर महीने होगा सिर्फ 10 ग्राहकों से ₹20000 का मुनाफा।

 यह हिसाब सिर्फ 10 ग्राहकों का है. अगर आप 50 ग्राहकों का करते हैं, तो 1 महीने में आप ₹1,00,000 कमा सकते हैं।

पैसा अड्डा सुझाव : अपने ग्राहकों को विजिटिंग कार्ड जरूर दें। यह  सस्ती और किफायती मार्केटिंग किसी ना किसी प्रकार से दूसरों को आपकी सर्विस के बारे में बताएगा।

कर्मचारी की नियुक्ति

शुरुआत में अगर आप सारा काम खुद संभाल लेते हैं। इससे आपके खर्चे कम होंगे। जैसे खाना बनाना, खाना पहुंचाना-लाना और बर्तन धोने वाले काम। अगर आप एक कर्मचारी रख लेते हैं। तो इससे आपका काम जल्दी होने के साथ में वक्त पर भी होगा। इसके लिए पार्ट टाइम जॉब की तरह भी कर्मचारियों को नियुक्त कर सकते हैं।

खाना बनाने कर्मचारी 

अगर आप खाना बनाना नहीं जानते हैं। इसके समाधान के लिए 2 महीने के लिए किराए पर हलवाई रख ले। इस हलवाई से आप किस रेसिपी में कितना सामान लगता है। उसका हिसाब बनवा लें। अब आप चाहे तो खुद भी सीख कर बनाना चालू कर सकते हैं या फिर एक कर्मचारी लगवा कर उससे बनवा सकते हैं।

टिफिन सर्विस में जोखिम (Risk)

tiffin-service-business-risk
tiffin Business risk

कोरोना के बाद से सब यह समझ चुके हैं कि हर व्यापार में जोखिम होता है। प्रार्थना करते हैं कि ऐसे जोखिम भविष्य में ना आए परंतु अगर आते भी हैं। तो हमें उनके लिए तैयार रहना है।

बाहरी जोखिम 

प्रतिद्वंदी

अगर आपका प्रतिद्वंदी कम कीमत में टिफिन बेचता है। तो आपके ग्राहक जा सकते हैं।

महंगाई 

हर साल 6 प्रतिशत की दर से महंगाई बढ़ती है। इसका असर आपके व्यापार पर गहरा असर छोड़ेगा। इसके लिए पहले से ही तैयार रहें।

भीतरी जोखिम

 खाने  का स्वाद 

 सबसे महत्वपूर्ण जोखिम यही है। अगर ग्राहक को खाने का स्वाद पसंद नहीं आता है तो वह आपकी सर्विस लेना बंद कर सकता है।

 खाना की मात्रा 

 इस पर भी बहुत ध्यान दें और ग्राहक की भूख के हिसाब से खाना रखें।

 वक्त पर खाना

आपके जिस प्रकार के ग्राहक होंगे। वह वक्त की पाबंदी के चलते अपना टिफिन समय पर ही चाहेंगे। इसलिए ग्राहकों के समय का आदर जरूर करें।

 साफ सफाई 

इसमें टिफिन गंदा होना, गंदे थैले में डिलीवर होना, खाने में बाल, कंकड़, इत्यादि का बहुत ध्यान रखें। यह आपके व्यवसाय पर गलत असर डालेगा।

पैसा अड्डा सुझाव : रसोई के अंदर आने वाले लोगों की साफ-सफाई का भी पूरा ध्यान रखें। बालों का केप को अनिवार्य करें। किसी भी प्रकार का नशीला या बदबूदार पदार्थ वर्जित करें। 

सुझाव 

किसी भी व्यवसाय को नई ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए हमें दूसरों से हटकर कुछ करना चाहिए। इसलिए आप अपने हिसाब से व्यवसाय में बदलाव लाते रहे। कुछ अच्छे बदलाव आपको नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे और बुरे बदलाव यह बताएंगे कि ऐसे बदलाव नहीं करना है। 

कूपन सिस्टम 

 यह सिस्टम उन ग्राहकों के लिए लागू होता है। जिन्हें कभी कभी टिफिन की जरूरत पड़ती है। इस बात का ध्यान रखें कि कूपन सिस्टम रखने से आपका खाना ना लेने पर वह बर्बाद भी होगा।

 ग्राहक का फीडबैक

 बाहर से पलायन करने वाले लोगों को अपने घर की खाने की याद आती रहती है। इस कमी को दूर करने के लिए उनसे आप हर 15 दिन में खाना, खाने का स्वाद, गुणवत्ता, और उनकी इच्छा के बारे में पूछते रहे। ऐसा करने से आप ग्राहक से अच्छे संबंध बना पाएंगे। 

टिफ़िन मेनू 

हर महीने यह होना जरूरी है। इस वजह से कस्टमर को विभिन्न प्रकार का भोजन स्वाद करने को मिलेगा और टिफिन के प्रति उत्सुकता बनी रहेगी। सिर्फ मौसम के हिसाब से ही नहीं कस्टमर की इच्छा के हिसाब से भी टिफिन मैन्यू में बदलाव लाते रहे। 

हफ्ते में स्पेशल खाना

खाने के प्रति ग्राहक की रूचि बनाने के लिए हफ्ते में कम से कम 2 बार स्पेशल खाना रखें।  यह यह स्पेशल खाना स्थानीय लोकप्रियता पर निर्भर करता है। इसके बावजूद आप हलवा, खीर पुरी, छोले भटूरे, पुलाव, बिरयानी, इत्यादि चीजें बना कर रख सकते हैं।

खाने में अतिरिक्त चीजें

 कभी-कभी सामान्य मात्रा में खाने के बाद कुछ अतिरिक्त चीजें भी जरूर जोड़ें। जैसे सलाद, पापड़, आचार इत्यादि। 

डिज़ाइनर टिफ़िन

इस प्रकार का सो जाओ आप ग्राहक से स्वयं ले ।अगर वह चाहे की फाइबर के टिफिन में कोई आपत्ति नहीं है तो आप इसे अपने टिफिन बिजनेस में जरूर अपनाएं।एक बात का ध्यान रखें कि फाइबर के टिफिन में खाना ठंडा हो जाता है।

पैसा अड्डा ने पूरी कोशिश की है की वह टिफ़िन सर्विस का बिजनेस का पूरा विस्तार से समझाया है। अब आपको कोई कमी लगती है। तो हमें कॉमेंट में सुझाव दे।

जो दूसरों ने भी देखे

  1. अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय
  2. गेम खेल कर पैसे कमाए
  3. नाश्ते की दुकान – खोले लाखों का बिजनेस

Leave a Reply

Your email address will not be published.